Independence Day Poetry In Hindi By Pooja Singh

Independence Day Poetry In Hindi By Pooja Singh

बोस की गर्जना और आज़ाद की दहाड़ है I
मेरा भारत महानता का विशाल पहाड़ है II
भगत जिसकी छोटी और पटेल जिसका आधार है I
खुदीराम और राजगुरु के भी हम पर उपकार है II
लाल-बाल-पाल के अतुलनीय आभार है I
हर वक़्त कुर्बानी देने जो रहे तैयार है II
लक्ष्मीबाई का तेज़ और तात्या की दूरदृष्टि बेशुमार है I
मंगल पांडेय का बलिदान भी एक उपकार है II
गाँधी की शांति भी यहाँ, और सबमें देशभक्ति अपार है I
कोटि कोटि नमन उन वीरो को
जिन्होंने हमे दिया ये अतुलनीय आज़ादी का उपहार है II

जय हिन्द !!

By "पूजा सिंह "

This Post Has 6 Comments

  1. Kajal

    सुंदर कविता ।

    1. Pooja Singh

      बहुत बहुत शुक्रिया काजल 🙏मेरी कविता को पढ़ने के लिए🥰🥰

  2. Lucy kumari

    ❤जय हिंद 🇮🇳

  3. MichaelToord

    Very good phrase
    [url=https://gay0day.com/]gay porn[/url]

  4. SamuelBot

    Yes you talent 🙂
    [url=https://itsabrianstorm.com]itsabrianstorm[/url]

Leave a Reply